Sahara India News

Sahara India News

Sahara India News: सहारा इंडिया वित्त, मीडिया और रियल एस्टेट जैसे क्षेत्रों में विभिन्न व्यावसायिक हितों वाली एक प्रमुख भारतीय समूह कंपनी है। कंपनी हाल ही में व्यवसायों के अपने विविध पोर्टफोलियो के साथ-साथ कानूनी विवादों और विवादों के कारण चर्चा में रही है।

1978 में सुब्रत रॉय द्वारा एक लघु वित्त और रियल एस्टेट कंपनी के रूप में स्थापित,

सहारा इंडिया 2012 में 12.5 बिलियन डॉलर की अनुमानित निवल संपत्ति के साथ, भारत में सबसे बड़े समूहों में से एक बन गया।

हालांकि, कंपनी की सफलता के बिना नहीं था चुनौतियों, वित्तीय धोखाधड़ी, ऋण चूक, और निवेशकों को वापस भुगतान करने में विफलता सहित।

नवीनतम समाचार में, फरवरी 2022 में, भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) ने सहारा इंडिया को उन निवेशकों को 1,300 करोड़ रुपये वापस करने का निर्देश दिया,

जिन्होंने कंपनी की दो अवैध सामूहिक निवेश योजनाओं (सीआईएस) में निवेश किया था।

सेबी का यह आदेश नियामक द्वारा यह पाए जाने के बाद आया कि सहारा इंडिया ने आवश्यक नियामक अनुमोदन प्राप्त किए बिना निवेशकों से अवैध रूप से धन जुटाया था।

सेबी के आदेश ने सहारा इंडिया को 15% की वार्षिक ब्याज दर के साथ निवेशकों को पैसा वापस करने का निर्देश दिया।

कंपनी को आदेश का पालन करने के लिए तीन महीने का समय दिया गया था।

हालांकि, सहारा इंडिया ने प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण (एसएटी) में सेबी के आदेश को चुनौती दी,

यह तर्क देते हुए कि नियामक के पास कंपनी पर कोई अधिकार क्षेत्र नहीं था

क्योंकि सेबी अधिनियम लागू होने से पहले निवेश किया गया था।

कंपनी ने यह भी तर्क दिया कि उसने पहले ही निवेशकों को पैसा वापस कर दिया था

और सेबी का आदेश गलत सूचना पर आधारित था।

जुलाई 2022 में, SAT ने सहारा इंडिया की अपील को खारिज कर दिया और सेबी के आदेश को बरकरार रखा।

ट्रिब्यूनल ने कहा कि सहारा इंडिया अपने दावों का समर्थन करने के लिए कोई सबूत देने में विफल रहा है

कि निवेशकों को पैसा वापस कर दिया गया था।

ट्रिब्यूनल ने यह भी फैसला सुनाया कि सेबी के पास सीआईएस को विनियमित करने के लिए आवश्यक अधिकार क्षेत्र था

और सहारा इंडिया ने नियामक के नियमों का उल्लंघन किया था।

सैट ने सहारा इंडिया को आदेश के 30 दिनों के भीतर निवेशकों को रिफंड

राशि का भुगतान करने का निर्देश दिया।

सेबी के आदेश का पालन न करने के लिए कंपनी पर 5 करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगाया गया था।

Sahara India News Today 2022: सहारा इंडिया 2008 से सेबी के साथ कानूनी विवादों में शामिल है, जब नियामक ने कंपनी को उन निवेशकों को 24,000 करोड़ रुपये वापस करने का आदेश दिया था

जिन्होंने इसके दो अवैध सीआईएस में निवेश किया था।

कंपनी ने विभिन्न अदालतों में सेबी के आदेश को चुनौती देते हुए

दावा किया कि वह पहले ही निवेशकों को पैसे वापस कर चुकी है।

ये भी पढ़े (Read this also) :- हमारे सुझए गए टिप्स इंटरनेट और मार्किट एक्सपर्ट्स की राय के हिसाब से दी जाती है इसमें वित्तीय जोखिम शामिल है कृपया इन्वेस्ट करने से पहले अपने फाइनेंसियल एडवाइजर की सलाह जरूर लें।

2012 में, भारत के सर्वोच्च न्यायालय ने Sahara India को 15% की वार्षिक ब्याज दर के साथ

निवेशकों को पैसा वापस करने का आदेश दिया।

अदालत ने कंपनी को यह भी निर्देश दिया कि वह सेबी को अपने निवेशकों और उनके निवेश की एक विस्तृत सूची प्रस्तुत करे।

Sahara India अदालत के आदेश का पालन करने में विफल रही, जिससे सेबी के साथ लंबी कानूनी लड़ाई चली।

2014 में, भारत के सर्वोच्च न्यायालय ने Sahara India के संस्थापक सुब्रत रॉय को अदालत के आदेश का पालन

करने में विफल रहने के लिए गिरफ्तार करने का आदेश दिया।

2019 में, सेबी ने फिर से Sahara India को उन निवेशकों को 14,000 करोड़ रुपये वापस करने का निर्देश दिया,

जिन्होंने इसके दो अवैध सीआईएस में निवेश किया था।

कंपनी ने सेबी के आदेश को विभिन्न अदालतों में चुनौती दी, लेकिन कानूनी लड़ाई अब भी जारी है।

अंत में, Sahara India वर्षों से विभिन्न कारणों से चर्चा में रहा है,

जिसमें इसके विविध व्यावसायिक पोर्टफोलियो, वित्तीय विवाद और सेबी के साथ कानूनी विवाद शामिल हैं।

Sahara India News
Sahara India News

निवेशकों को पैसा लौटाने का सेबी का ताजा आदेश लंबे समय से चली आ रही कानूनी गाथा का सिर्फ एक अध्याय है जिसे अभी तक सुलझाया नहीं जा सका है।

ये भी पढ़े (Read this article also) :- 

what-is-e-rupi

Marksans Pharma Share Price Target

Disclaimer: ये पोस्ट केवल आपकी जानकारी के लिए लिखी गयी है कृपया कोई भी निवेश या निर्णय करने से पहले अपने वित्तीय सलाहकार से जरूर संपर्क करे किसी भी तरह के नुक्सान के लिए हम या हमारी टीम जिम्मेदार नहीं होगी कोई भी निर्णय करने से पहले एक अच्छे वित्तीय सलाहकार से जरूर संपर्क करे ताकि आपको अच्छी और सटीक सलाह मिल सके।

12 thoughts on “Sahara India News”

Leave a Reply